IP address क्या होता है और क्या इससे आपकी location trace की जा सकती है ?

What is an IP address?
What is an IP address?

किसी भी website को आपसे connect होने के लिए या आपको information send करने के लिए आपके computer के IP address की जरुरत होती है। ताकी website सही location पर information पहुंचा सके। लेकिन परेशानी तब आती है जब कोई इस process का misuse करता है और फायदा उठाता है।

तो क्या IP address की help से आपके बारे में या आपकी location के बारे में जानकारी हासिल की जा सकती है। आज हम इसी सवाल का जवाब अपने पोस्ट IP address क्या होता है और क्या इससे आपकी location trace की जा सकती है ? में ढूंढने की कोशिश करेंगे।

IP address क्या होता है ? (What is an IP address ?)

Internet Protocol address जिसे IP address भी कहते हैं। यह वो address होता है जहाँ से computer कोई भी data send करता है या receive करता है।

जैसे हर व्यक्ति का अपना नाम और address होता है। उसी तरीके से computer का भी एक address होता है जिसे IP address कहते है, बस फरक इतना होता है की यह IP address no. में होता है।

Internet पर मौजूद हर website, computer और server का अपना एक IP address होता है। For example :- अगर आप अपने computer पर कोई website open करना चाहते हैं। तो आपका computer उस website के IP address पर request send करेगा। Then वो website आपकी जरुरत का content आपके computer के IP address पर send कर देगी। तो basically internet पर हर information को send और receive करने के लिए IP address की जरुरत पड़ती है।

यहां सबसे important यह समझने की जरुरत है internet पर मौजूद हर device का अपना एक IP address होता है।

Types of IP address

1. IPV4 और IPV6

IPV4

Internet Protocol version 4 जो IPV4 के नाम से जाना जाता है। इस protocol को 1980 में develop किया गया था। यह address 4 numbers से मिलकर बनता है और प्रत्येक नंबर की range 0 से 255 तक होती है। For example :- 4.52.69.83.

IPV4 की limited range होने के कारण और internet की growth होने के कारण कुछ समय बाद IPV4 में मौजूद addresses की कमी पैदा हो गई। जिसके कारण एक नए internet protocol को develop करने की जरुरत पड़ गई।

IPV6

Internet protocol version 6 जिसकी development IPV4 में addresses की कमी को पूरा करने के लिए की गई। IPV6 128 bit address पर काम करता है और इसे 8 hexadecimal groups में represent किया जाता है। For example :- 2520:0ab4:0005:0051:0101:7c1b:0270:5123.

अगर हम IPV6 की limit की बात करें तो यह 340 undecillion तक है। जो की 340 के बाद 36 zero लगाने के बाद जो value आती है उसके बराबर है। जिसका मतलब है की IPV6 में कभी address की कमी पैदा नहीं होगी।

IPV6 में ज्यादा functionality होने के कारण यह IPV4 से ज्यादा बेहतर है। IPV6 auto configuration feature के साथ आता है, जिसके कारण कोई भी device जैसे ही power up होता है तो वह अपने आप ही अपना address generate कर लेता है network के साथ connect हो जाता है।

2. Public और Local IP address

IP address को दो और अलग भागों में बांटा गया है, external or public IP address और local or private IP address.

External or Public IP address

आपका internet service provider (ISP) जिसे आप internet use करने के लिए पैसे देते हैं। वह आपको internet की दुनियाँ से connect होने के लिए IP address provide करता है। इसी IP address की मदद से internet पर मौजूद sites को पता चलता है की उन्हें data किस location पर भेजना है।

Local or Internal IP address

घर में या office में मौजूद internal devices जब किसी IP address से connect होते है। तो उन सभी internal devices को अलग अलग IP address assign किया जाता है। जिसे local या internal IP address कहते हैं। यह internal IP address आपके router के द्वारा assign किया जाता है जो internet के साथ connect होता है।

अगर हम संक्षेप में बात करें तो internal IP address वो होता है जिससे internal device एक network के साथ connected होते हैं। और public IP address में आपका network बड़े internet network के साथ जुड़ा होता है जहाँ से आप हर चीज़ access कर सकते हैं।

IP address कैसे काम करता है ?

मान लीजिये आपका friend या relative आपके पास कोई document भेजना चाहता है। लेकिन वो आपका नाम और address नहीं जानता है। तो वह आपके पास उस document को कभी भी भेज नहीं पायेगा। लेकिंन अगर उसके पास आपका सही address है तो उसे document send करने में कोई परेशानी नहीं आएगी।

Same concept virtual world में भी लागु होता है। Internet पर मौजूद हर device जैसे computer, server, webcam और website का अपना एक IP address होता है। जिसके माध्यम से ये सब एक दूसरे से connect होते हैं।

Basically, IP address की जरुरत एक दूसरे को information send और receive करने के लिए पड़ती है।

TCP/IP का क्या मतलब होता है ?

Transmission control protocol /Internet protocol जिसे TCP/IP भी कहते हैं, basically एक set of rules है जो की decide करता है की internet पर मौजूद devices कैसे एक दूसरे के साथ connect करेंगी।

TCP/IP के माध्यम से ही internet पर मौजूद data packets में divide हो कर different destinations पर जाता है। TCP/IP ही decide करता है की कैसे devices के बीच में communication होना है, कैसे data को पैकेट में divide करना है और कहाँ भेजना है।

IP address का क्या काम होता है ?

Internet protocol address का main काम internet पर मौजूद devices के बीच में सही communication को handle करना है। Internet पर मौजूद हर device का एक IP address होता है। बिना IP address के कोई भी website या device किसी दूसरे device के साथ communicate नहीं कर सकता है।

IP address, return address की तरह भी काम करता है। For example :- अगर कोई information किसी गलत address पर भेजी गई है। तो वह information उस address पर न जाकर आपके IP address पर return आ जाएगी। Same वैसे ही जैसे गलत id पर भेजी हुई mail, bounce होकर पास वापस आ जाती है।

IP address से आप क्या जानकारी हासिल कर सकते हैं।

मान लीजिये की आपके पास किसी व्यक्ति का IP address है। तो आप उस IP address से क्या जानकारी हासिल कर सकते है।

अगर आपके पास IP address से related जानकारी हासिल करने के लिए कोई tool नहीं है तो IP address के नंबर आपके लिए किसी काम नहीं आ सकते है। क्योंकि IP address generally किसी company या computer को assign होता है। और इन numbers से आप यह पता नहीं लगा सकते की यह person किस country से belong करता है या इसकी location क्या है।

लेकिन अगर आप information हासिल करने के लिए किसी tool का या software का use करते हैं तो आप आसानी से IP address को extract कर सकते हैं और यह जान सकते हैं की इस IP address का ISP कौन है और user की location क्या है।

छोटे शहर और छोटी जगह पर इन tools की मदद से आप किसी को भी आसानी से ढूंढ सकते हैं। पर अगर किसी बड़ी city या जगह पर आप किसी के बारे में जानकारी हासिल करना चाहते हैं तो यह थोड़ा मुश्किल है।

What is my IP address ?

अगर आप अपने किसी भी device का IP address जानना चाहते है तो internet पर कईं ऐसे tools मौजूद है जिनकी मदद से आप अपना IP address जान सकते हैं।

Police कैसे किसी व्यक्ति का address ढूंढ लेती है ?

अगर आप कोई online fraud करते हैं या information चुराते हैं तो कैसे police आपको ढूंढ लेती है। यह सब possible हो पता है आपके ISP की help से।

जब आप कोई connection लेते हैं तो ISP को आप अपनी पूरी detail provide करते हैं जैसे अपना नाम, address और बाकि details जो police के लिए काफी होता है किसी को भी ढूढ़ने के लिए। जब कोई व्यक्ति गलत काम करता है तो पुलिस उसका IP address trace करती है और उसके ISP को contact करती है जहाँ से उसके बारे में सभी information पता चल जाती है।

IP address को कैसे hide कर सकते हैं ?

एक अच्छी VPN service की मदद से आप अपने IP address को hide कर सकते हैं। VPN basically आपके ISP को skip करके काम करता है।

आप जब कोई information search करते हैं तो आपका computer उस information को आपके ISP के माध्यम से VPN service को भेजता है। और फिर VPN service उस request को उस website पर भेजता है जहाँ से आप जानकारी हासिल करना चाहते है।

अगर कोई आपके बारे में जानकारी हासिल करना चाहते है तो उसे VPN service की जानकारी हासिल होगी। आपकी exact location हासिल करने के लिए उन्हें मेहनत करनी पड़ेगी , लेकिन आपको trace कर पाना ना के बराबर होगा।

Conclusion

जैसे की आपने ऊपर पढ़ा की आपके computer का एक IP address होता है जिसके कारण वो इंटरनेट पर मौजूद दूसरे devices के साथ communicate कर पाता है। लेकिन इस process में आपका computer आपके बारे में कुछ अधिक जानकारी नहीं बता पाता है। जिसके कारण आपकी location के बारे में नहीं पता चल सकता है।

मुझे उम्मीद है की आपको हमारा article IP address क्या होता है और क्या इससे आपकी location trace की जा सकती है ? पसंद आया होगा। और आज आपने कुछ नईं जानकारी हासिल की होगी।

Friends कृप्या इस article को अपने दोस्तों और relatives में भी share करें, ताकि उन तक भी ये जानकारी पहुंच सके और उन्हें भी लाभ मिल सके। और अगर article से related कोई सुझाव है तो आप हमें comment box में बता।

नमस्कार दोस्तों , मैं कुमार गौरव , techhind में writer हूँ। शिक्षा की बात करूँ तो मैं एक इंजीनियर हूँ। Techhind के माध्यम से मैं आपको technology से related नईं और सही जानकारी प्रदान करने की कोशिश करता हूँ। मेरा आप से अनुरोध है की आप हमें सहयोग देते रहें और हम आपको नईं और helpful जानकारी उपलब्ध कराते रहेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here